Friday, 15 May 2015

रेलवे - जन सुविधाये

रेल मंत्री  श्री सुरेश प्रभु द्वारा रेलवे बजेट मे कई घोषनाएं की गयी थी।  धीरे धीरे इन घोषणाओ पर काम हो रहा है और रेलवे की स्थिति सुधारने की तरफ कदम बढ़ाए जा रहे हैं। यात्रियो की सुविधाओ को ध्यान मे रखते हुए उठाए गये कुछ कदम हैं: 

अडवांस रिजर्वेशन: रेलवे ने अडवांस रिजर्वेशन पीरियड को 60 दिनों से बढ़ाकर 120 दिन कर दिया है । इसलिए रेल मे यात्रा करने के इच्छुक व्यक्ति अब चार महीने पहले ट्रेन की टिकट बुक करवा सकते हैं।  यह सुविधा 1 अप्रैल 2015 से शुरू हो चुकी है। 

कागज रहित अनारक्षित टिकट : कागज रहित अनारक्षित टिकट की बुकिंग के लिए रेलवे ने मोबाइल एप्प 'UTS' लॉन्च की है।  इस मोबाइल ऐप को गूगल प्ले स्टोर या विंडोज स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। टिकट का भुगतान ऐप में मौजूद ऑप्शन 'रेलवे वैलेट’ से किया जा सकेगा ।  टिकट बुक होने पर यात्री को टिकट कंफर्मेशन स्क्रीन  दिखाई देगी जिसपर टिकट से संबन्धित सभी सूचना इंफर्मेशन होगी।
यह सर्विस सबसे पहले दक्षिणी रेलवे के 15 स्टेशनों पर उपलब्ध होगी, बाद मे देश के सभी बड़े शहरों में इस सर्विस को लॉन्च किया जायेगा। 

लिमिटेड ई-टिकटिंग: रेलवे मंत्रालय द्वारा ई-टिकटों की सीमा प्रतिबंधित करने की तरफ कदम बढ़ाया गया है। अब ई-टिकटिंग प्लैटफ़ार्म पर सुबह 8.00 बजे से दिन के 12.00 बजे के बीच बुकिंग करने पर एक लॉग-इन पर ही एक ही टिकट मिलेगा।

जल्दी टिकट खिड़की: यात्रियों को तुरंत टिकट देने के लिए पश्चिमी रेलवे के वडोदरा डिविजन ने वडोदरा, नाडियाड, भरूच, आनंद और अंकलेश्वर रेलवे स्टेशनों पर ‘जल्दी टिकट खिड़की’ नाम से काउंटर खोला है। ‘ऑपरेशन 5 मिनट्स’ के तहत जारी इस टिकटिंग सिस्टम मे रेलवे ज्यादा यात्रा वाले स्थानों की टिकट अडवांस में प्रिंट कर लेगा जिससे जनरल बोगी से सफर करने वाले यात्री पांच मिनट के अंदर टिकट खरीद सके।  

ई-कैटरिंग : यात्री अब रेल मे अपनी मन मर्जी का खाना खा सकेंगे । अब रेल मे  से भी खाना मंगवाया जा सकेगा।   पिज्जा हट /केएफसी से खाना मंगवाने के लिए यात्रा की तारीख से 48 घंटे पहले आईआरसीटीसी की वेबसाइट से आर्डर करना होगा। वेंडर द्वारा उपभोक्ता के मोबाइल पर एक पासवर्ड भेजा जाएगा जिसे डिलिवरी के वक्त बताना होगा।

उपभोक्ता शिकायते और सुझाव : यात्रा के दौरान किसी भी तरह की समस्या के लिए चाहे रेलवे मे सफाई से संबंधित हो या कोई परेशानी हो  तो यात्री 9717630982 पर एक एसएमएस कर शिकायत कर सकते हैं। जिस पर तुरंत कार्यवाही की जाएगी।  इसी तरह अगर यात्रियो का कोई सुझाव हो तो भी इस नंबर पर एसएमएस कर सकते हैं। 

कैश ऑन डिलिवरी: कैश ऑन डिलिवरी  यानि ऑनलाइन टिकट बुक करने के लिए आपको पहले पैसा नहीं देना पड़ेगा। टिकट डिलिवर होने के बाद ही आपको पैसा देना होगा।  आईआरसीटीसी ने ‘कैश ऑन डिलिवरी’ की सुविधा उन यात्रियो के लिए शुरू की है जो अपने क्रेडिट/ डेबिट कार्ड/नेट बैंकिंग का इस्तेमाल नहीं करना चाहते। अब 

स्टेशन अलर्ट : अब रेल यात्रा करते समय आपको गंतव्य स्टेशन तक पहुँचने के लिए अपनी नींद खराब करने की जरूरत नहीं होगी।  अब आराम की नींद सो सकते हैं।  स्टेशन आने से आधा घंटा पहले मोबाइल फोन पर वॉइस कॉल आ जाएगा।  इसके लिए आपको  रेलवे इन्क्वायरी नंबर 139 पर अपने गंतव्य स्थान के बारे मे सूचना देनी होगी। 

रुपे प्रीपेड कार्ड: शॉपिंग, सेवाओं से जुड़े बिलों के भुगतान के साथ साथ रेलवे यात्री रुपे प्रीपेड कार्ड से भी टिकट बुक करावा सकते हैं। कार्ड की दो श्रेणियों की लिमिट क्रमश 10,000 रुपये और  50,000 रुपये है। 5 ट्रांजैक्शन कार्ड पर हर महीने मुफ्त होंगे।  छह महीनों बाद  हर ट्रांजैक्शन के लिए 10 रुपये चार्ज किया जायेगा।

हवाई यात्रा का विकल्प : आरक्षित सीट का टिकट कंफर्म नहीं हो पाने की स्थिति मे IRCTC ग्राहको को रियायती दरों पर हवाई यात्रा का विकल्प भी देगा।  यात्रा की तारीख से कम से कम तीन दिन पहले और चार्ट बनने तक सीट कंफर्म नहीं हो पाने की स्थिति मे आईआरसीटीसी यात्री को ईमेल के द्वारा हवाई यात्रा का विकल्प देगा । यात्री को यह टिकट आईआरसीटीसी की वेबसाइट से ही बुक करना होगा। 

इन्शुरेंस कवर : आईआरसीटीसी जल्द ही अॉनलाइन टिकट बुकिंग करवाने वाले यात्रियों के लिए विशेष बीमा योजना लाएगी । इसके तहत यात्रा के दौरान सामान गुम या चोरी होने की स्थिति में यात्री बीमा रकम का दावा कर सकेंगे। बीमा पैकेज में लैपटॉप, मोबाइल फोन या अन्य महंगे सामनों का कवर होगा। न्यू इंडिया एश्योरेंस के सहयोग से यह सुविधा उपलब्ध कारवाई जा सकेगी । साथ तालमेल बैठाया जा रहा है।

No comments:

Post a Comment