Monday, 11 May 2015

कूड़ेदान में मिली -2000 आंखें

यह खबर आपके होश उड़ा देगी । इस खबर के अनुसार दान मे दी गयी 2000 आंखो को समय पर इस्तेमाल न किए जाने के कारण कूड़े मे फेंक दिया गया।  ये घटना हरियाणा के चंडीगढ़ स्थित पीजीआई अस्पताल की है। 

क्या ऐसा हो सकता है कि समय पर इनका उपयोग न हो पाया हो या किसी और वजह से जरूरतमंदो को आंखो की रोशनी देने से वंचित रखा गया। अगर ऐसा ही होता रहा तो कौन अपनी आँखें दान देना चाहेगा। क्या इस स्थिति से निबटने के लिए किसी तरह की कोई प्रक्रिया शुरू की गयी है/की जाएगी जिससे ये संभव हो सके कि कितने लोगो को आंखो की आवश्यकता है और कितने लोग दान दे रहे हैं। क्या कहीं आंकड़े दिखाना जरूरी नहीं कि दान मे दी गयी आंखो का इस्तेमाल हो भी पाया या नहीं। क्यूँ नहीं आज तक कोई सिस्टम बन पाया जिससे किसी तरह के दुरुपयोग की आशंका न रहे।  

इस तरह के बहुत से सवाल हैं जो मन मे उभर आते हैं। क्या कार्यवाही की जाएगी इस लापरवाही के लिए । अगर ऐसा ही होता रहा तो जिस मकसद से लोग आंखे दान करते हैं उसका कोई अर्थ ही नहीं रह जाएगा।

इस खबर की तह तक जाना जरूरी है क्यूंकी ये तो सिर्फ पीजीआई अस्पताल की खबर है और देश मे अनेकों अस्पताल हैं जहां लोग आँखें और अंग भी दान करते हैं।

संबन्धित खबर
नेत्रदान



No comments:

Post a Comment