Tuesday, 31 March 2015

1 अप्रैल : नई व्यवस्थाएँ और सुविधाएं

वर्ष की एक अप्रैल की तारीख बहुत अहम होती है। इस दिन नया वित्तीय वर्ष आरंभ होने के साथ ही कई नई व्यवस्थाएं और फैसले लागू होते हैं, जिनका सीधा संबंध आम आदमी के जीवन पर पड़ता है। कुछ इस वित्तीय वर्ष क्या हैं नए लागू होने वाले अहम फैसले  -
माल ढुलाई से बढ़ेगी महंगाई : रेल बजट में माल ढुलाई बढ़ने का सीधा असर जरूरी चीजों की कीमतों पर होगा। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रेल बजट में मालभाडे में औसतन 3.2 फीसद की वृद्धि की थी। नए वित्त वर्ष से अनाज, दालों और यूरिया की ढुलाई 10 प्रतिशत महंगी होगी। 
रेलवे का प्लेटफॉर्म टिकट 10 रुपए का : रेलवे ने प्लेटफार्म टिकट के मूल्य में सौ फीसद की बढ़ोतरी की हैं । एक अप्रैल से प्लेटफार्म टिकट के लिए अब पांच के बजाय दस रुपए खर्च करने होंगे। 
रसोई गैस सब्सिडी : रसोई गैस कनेक्शन को बैंक खातों से लिंक करने के लिए 31 मार्च तक का ही समय था। इसके बाद जिन ग्राहकों के कनेक्शन बैंक खाते से लिंक नहीं होंगे उन्हें बाजार भाव से गैस सिलेंडर मिलेंगे। 
नई ट्रेनों की सौगत, सुविधाएं भी बढेंगी : ट्रेन में यात्रियों के सफर को आसान बनाने के लिए रेलवे बोर्ड 1 अप्रैल से सुविधाओं में इजाफा करने जा रहा है। यात्रियों को आरक्षित टिकट 60 के बजाय 120 दिन पहले ही मिलना शुरू हो जाएंगे। 
सस्ती होगी प्राकृतिक गैस : 1 अप्रैल से घरेलू प्राकृतिक गैस की कीमत 10 प्रतिशत से ज्यादा घटकर 5.02 डॉलर प्रति यूनिट रह जाने की संभावना है। इस वजह से ओएनजीसी और रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी कंपनियों की आमदनी घट सकती है। 
मिनिमम बैलेंस न होने पर बैंक करेगा फोन : रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को निर्देश दिया है कि वे किसी खाते में रकम मिनिमम बैलेंस की सीमा से नीचे आने पर ग्राहक को सूचित करें। इसके बाद यदि उचित समय पर खाते में मिनिमम बैलेंस नहीं आता है, तो खाताधारक को इसकी जानकारी देने के बाद ही जुर्माना लगाया जाना चाहिए। 



(नoदुo)

No comments:

Post a Comment