Thursday, 20 November 2014

कौन है बाबा रामपाल

सोनीपत के एक गांव में भगत नंदराम के घर 1951 में रामपाल पैदा हुए। इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करके नौकरी मिली और वह 13 साल तक सिंचाई विभाग में जेई रहे। कबीरपंथी स्वामी रामदेवानंद से प्रभावित होकर 1988 में उनका शिष्य बना । 1999 मे रोहतक के करौंथा की सीमा में झज्जर रोड पर सतलोक आश्रम खोला। इस आश्रम ने भव्य रूप ले लिया और यह कई एकड़ में फैल गया। साल 2000 में नौकरी छोड़कर भक्ति-मुक्ति ट्रस्ट बना लिया। साल 2000 में स्वामी दयानंद के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की जिससे आर्य सामाजियों से झगड़ा हुआ । करौंथा के आश्रम में 2006 में जब आर्यसमाजियों के साथ उनके अनुयायियों का संघर्ष हुआ और 1 युवक की मौत और कुछ लोगों के घायल होने पर पुलिस ने आश्रम पर कब्जा कर लिया था। उन्हें समर्थकों सहित अरेस्ट कर लिया गया और कई महीने जेल वह जाईल में भी रहा । बाद में जमानत पर छूटने पर उसने बरवाला में आश्रम बनाया था। 2009 में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने करौंथा आश्रम रामपाल ट्रस्ट को सौंपने का आदेश दिया। आर्य प्रतिनिधि सभा ने इसे चैलेंज किया लेकिन 2013 में SC में याचिका खारिज कर दी । जिससे ट्रस्ट को आश्रम दिए जाने से ग्रामीण नाराज हो गए। 12 मई 2013 को झड़प में 3 लोगो की मौत हुई जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए। इसके बाद करौंथा आश्रम खाली करवाया गया और रामपाल बरवाला आश्रम आ गया । एक के बाद एक 42 मर्तबा रामपाल कोर्ट में पेश नहीं हुआ। रामपाल समर्थकों ने कोर्ट में बवाल, वकीलों से मारपीट और जजों के खिलाफ नारेबाजी तक की ।अब इनके लाखों अनुयायी और समर्थक हैं जो हरियाणा के अलावा और भी राज्यों में हैं।

हिसार के आश्रम में 9 दिन तक छिपकर हरियाणा पुलिस के लिए सिरदर्द बने रहे रामपाल अब पुलिस के शिकंजे में है। देर रात पुलिस ने पंचकुला के अस्पताल में उसका मेडिकल कराया। जिस वक्त रामपाल को अस्पताल में ले जाया गया उनकी हालत सामान्य थी। इससे पहले 9 दिन चले ड्रामे के बाद बुधवार रात हरियाणा पुलिस ने रामपाल गिरफ्तार कर लिया। गैर जमानती वारंट जारी होने के बावजूद रामपाल कोर्ट में पेश नहीं हो रहा था और लगातार हरियाणा सरकार के लिए चुनौती बना हुआ था। आज उसे चंडीगढ़ में पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में पेश किया जा रहा है ।

आश्रम से गिरफ्तारी के बाद रामपाल के कब्जे से पुलिस ने पांच मोबाइल फोन भी बरामद किए। रामपाल के हिसार से चंडीगढ़ पहुंचने से पहले ही मोहाली और आसपास के इलाकों में धारा 144 लागू कर दी गई थी। रामपाल की गिरफ्तारी के बाद हरियाणा पुलिस ने सतलोक आश्रम की जांच और छानबीन की। रामपाल के सतलोक आश्रम से पुलिस ने 6 महीने का राशन, नाइट्रोजन गैस के सिलेंडर और कुछ अश्लील सामान बरामद किया है। आश्रम में बेहोश करने वाले नाइट्रोजन गैस के सिलेंडर भी पुलिस को मिले हैं।

रामपाल पर क्या क्या हैं केस दर्ज हुए
1- रामपाल पर देशद्रोह का केस दर्ज।
2- सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने का केस दर्ज।
3- रकार के खिलाफ युद्ध के लिए लोगों को भड़काने का केस।
4- सरकार के खिलाफ युद्ध के मकसद से हथियार जमा करने का केस।
5- सरकार के काम में बाधा पहुंचाने का केस दर्ज।
6- दंगा फैलाने का केस।
7- हत्या की कोशिश का केस।
8- आपराधिक साजिश का केस।
9- लोगों को जबरन बंधक बनाने का केस दर्ज।
10-जमीन कब्जाने, धोखाधड़ी और हत्या का केस पहले से चल रहा है ।

No comments:

Post a Comment