Thursday, 27 November 2014

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग और अभी तक की कार्यवाही

क्या था मामला

आईपीएल-6 के दौरान स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में राजस्थान रॉयल्स के तीन खिलाडियों एस श्रीसंत, अजीत चंदीला और अंकित चव्हाण को गिरफ्तार किया था। इनके अलावा चेन्नई सुपर किंग्स के तत्कालीन टीम प्रिंसीपल गुरूनाथ मयप्पन और अभिनेता विंदू दारा सिंह को सट्टेबाजी में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। सुप्रीम कोर्ट ने मामले की जांच के लिए जस्टिस मुकुल मुद्गल की अध्यक्षता में कमिटी का गठन किया था।

किसके नाम हुए उजागर

आईपीएल-6 स्पॉट फिक्सिंग और सट्टेबाजी मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मुद्गल कमिटी की रिपोर्ट को सार्वजनिक करने के बाद 13 नामों में से सात का खुलासा किया। इन नामों में आईसीसी चेयरमैन एन श्रीनिवासन, उनके दामाद गुरूनाथ मयप्पन, राजस्थान रॉयल्स टीम के सहमालिक राज कुंद्रा और आईपीएल के सीईओ सुंदर रमन के नाम शामिल है। इनके अलावा तीन क्रिकेटर्स के नाम भी है लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इन नामों को जारी करने से मना कर दिया । इन नामो मे भारत, वेस्ट इंडीज और इंग्लैण्ड के खिलाड़ी शामिल है।

क्या क्या कार्यवाही हुई अभी तक: (आईसीसी) के प्रमुख एन. श्रीनिवासन ने सर्वोच्च न्यायालय से अनुरोध किया था कि वह उन्हें भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष पद पर बहाल करे क्यूंकी मुद्गल समिति ने श्रीनिवासन बरी कर दिया था । इस पर 27 नवम्बर की सुनवाई मे sc ने मांगे इन सवालो के जवाब :

सूप्रीम कोर्ट ने श्रीनिवासन की कंपनी इंडिया सीमेंट्स की डीटेल्स मांगीं।
कोर्ट जानना चाहती है CSK पर असल में किसका मालिकाना हक है।
सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई से पूछा, 'गड़बड़ियां दिखीं तो चेन्नै सुपरकिंग्स पर रोक क्यों नहीं लगाई?'
बीसीसीआई ने दोबारा इलेक्शन की कार्यवाही क्यों नहीं की, ताकि नया बोर्ड श्रीनिवासन और अन्य को अलग रख जांच सुनिश्चत कर सके? सूप्रीम कोर्ट चाहती है की IPL स्पॉट फिक्सिंग मामले में जिनके खिलाफ जांच चल रही है, उन्हें बीसीसीआई इलेक्शन से दूर रखा जाना चाहिए ।

No comments:

Post a Comment