Tuesday, 18 November 2014

अब एक बैंक में रख सकते हैं सिर्फ 1 ही सेविंग्स अकाउंट

क्या आपको पता है कि किसी एक बैंक में आपके दो सेविंग्स अकाउंट नहीं हो सकते? आप पूरे देश भर में किसी एक बैंक में केवल एक ही सेविंग्स अकाउंट खुलवा सकते हैं। अगर किसी ग्राहक का किसी बैंक के एक से अधिक शाखाओं में ऐसा अकाउंट पाया जाता है, तो ऐसी स्थिति में उसे 30 दिनों के भीतर एक खाते को बंद करना होता है। अब यह उस ग्राहक पर निर्भर करेगा कि वह किस शाखा से जुड़ा रहना चाहता है। मान लें आपका उत्तर प्रदेश के किसी जिले में भारतीय स्टेट बैंक की किसी शाखा में सेविंग्स अकाउंट है। अब अगर आप दिल्ली में भारतीय स्टेट बैंक में एक सेविंग्स अकाउंट खोलना चाहते हैं, तो आप ऐसा नहीं कर सकते। एसबीआई ने आरबीआई के नियम को लागू कर दिया है। इस वर्ष मई में भारतीय स्टेट बैंक मुख्यालय ने अपनी सभी शाखाओं को इस बाबत निर्देश जारी किया था। एक से अधिक शाखाओं में एक पैन को स्वीकार नहीं किया जा रहा। एक ही पैन नंबर को देखते हुए एसबीआई की कई शाखाओं ने कई लोगों को दूसरा खाता खोलने से मना किया है। अन्य बैंक भी इस नियम को लागू करने में कड़ाई बरत रहे हैं। एसबीआई ने हर ग्राहक को यूनिक आईडी दी है। सॉफ्टवेयर में पैन नंबर डालते ही पता चल जाता है कि इस पैन का स्टेट बैंक की किसी भी शाखा में खाता है या नहीं। 70% बैंकों में ग्राहकों की पैन हिस्ट्री फॉलो की जा रही है।

हालांकि कोई भी व्यक्ति अगर एक से अधिक बैंक में अपने खाते रखता है तो यह नियमतः सही है। बैंक अपनी अलग-अलग शाखाओं में किसी एक व्यक्ति को एक से अधिक खाता खोलने से मना कर सकता है। लेकिन दूसरे बैंकों में खाता रहने पर भी उन्हें खाता खोलना होगा। हालांकि किसी एक बैंक में किसी व्यक्ति का एक सेविंग्स एकाउंट और एक करेंट अकाउंट जरूर हो सकता है। सेविंग्स अकाउंट वाला यह नियम ज्वाइंट अकाउंट के ग्राहकों पर भी लागू नहीं होता।


No comments:

Post a Comment