Friday, 31 October 2014

लौह पुरुष सरदार पटेल को श्रद्धा सुमन

आज लौहपुरुष वल्लभ भाई पटेल का आज जन्मदिवस है। वल्लभ भाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर, 1875 को गुजरात के नाडियाड में हुआ। भारत के प्रथम गृह मंत्री और प्रथम उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल को लौह पुरुष का दर्जा प्राप्त था। उनके द्वारा किए गए साहसिक कार्यों की वजह से ही उन्हें लौह पुरुष और सरदार जैसे विशेषणों से नवाजा गया।

सरदार वल्लभ भाई पटेल एक ऐसे इंसान थे जिन्होंने देश के छोटे-छोटे रजवाड़ों और राजघरानों को एक कर भारत में सम्मिलित किया । उनकी दृढ़ इच्छा शक्ति, नेतृत्व कौशल का ही कमाल था कि 600 देशी रियासतों का भारतीय संघ में विलय कर सके। भारतीय स्वाधीनता संग्राम के दौरान उन्होंने ब्रिटिश राज की नीतियों के विरोध में अहिंसक और नागरिक अवज्ञा आंदोलन के जरिए खेड़ा, बरसाड़ और बारदोली के किसानों को एकत्र किया। जन कल्याण और आजादी के लिए चलाए जाने वाले आंदोलनों में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के चलते गुजरात के बारदोली ताल्लुका के लोगों ने उन्हें ‘सरदार’ नाम दिया और इस तरह वह सरदार वल्लभ भाई पटेल कहलाने लगे।

सरकार ने सरदार पटेल को पहचान देने के लिए उनके जन्मदिवस को "राष्ट्रीय एकता दिवस" के रूप मे मनाने का संकल्प लिया है। इसके लिए भारत की राजधानी दिल्ली सहित देश के विभिन्न हिस्सो मे अनेक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जा रहा है ।

No comments:

Post a Comment