Thursday, 9 October 2014

पाकिस्तान के साथ गतिरोध का जवाब

जम्मू-कश्मीर में एलओसी और इंटरनैशनल बॉर्डर पर पाकिस्तान के साथ बनी गतिरोध अगर लंबा खिंचता है, तो भारत उसके लिए पूरी तरह से तैयार है। सरकार ने साफ किया है कि वह इस्लामाबाद से तब तक किसी तरह की बातचीत नहीं करेगी, जब तक सीमा पार से फायरिंग रोकी नहीं जाती। पाकिस्तान लगातार पिछले एक हफ्ते से रिहायशी इलाकों में मोर्टार गिराकर नागरिकों को निशाना बना रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडियन एयरफोर्स के फंक्शन में बॉर्डर पर चल रहे घटनाक्रम पर सिर्फ इतना ही कहा कि जल्दी सब कुछ ठीक हो जाएगा। मगर एक सूत्र ने बताया कि सरकार ऐसे किसी मूड में नहीं है कि पाकिस्तान की शर्तों पर किसी तरह का समझौता किया जाए।

मंगलवार रात को पाकिस्तान ने 63 बीएसएफ पोस्ट्स को निशाना बनाते हुए हेवी फायरिंग की थी। यह पिछले कई सालों में पाकिस्तान द्वारा की गई सबसे ज्यादा फायरिंग है। भारत ने भी करारा जवाब देते हुए अभी तक 70 पाकिस्तानी पोस्ट्स पर 1000 मोर्टार दागे हैं।

बुधवार सुबह पौने 10 बजे फिर पाकिस्तानी सैनिकों ने फायरिंग की। अब पाकिस्तान ने फायरिंग की रेंज 4 किलोमीटर से बढ़ाकर 7 किलोमीटर कर दी है। सांबा में तैनात पत्रकारों को भी बीएसएफ ने 2 किलोमीटर पीछे चले जाने को कहा, ताकि कहीं वे पाकिस्तानी गोलाबारी की चपेट में न आ जाएं।

यूएन महासचिव बान की मून भी भारत औऱ पाकिस्तान से बातचीत के जरिए विवाद सुलझाने की अपील कर चुके हैं, लेकिन मोदी सरकार पाकिस्तान से बातचीत करने के मूड में नहीं है। भारत का मानना है कि कश्मीर मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठा पाने में नाकाम रहने से हताश पाकिस्तान जानबूझकर फायरिंग शुरू की है।

7 दिनों से लगातार हो रही फायरिंग के बाद बुधवार का एलओसी काफी शांत नजर आई। इंटेलिजेंस एजेंसियों के मुताबिक पाकिस्तान में पिछले 2 दिनों में 35 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि भारत में अब तक 8 लोगों की जान गई है। दोनों मुल्कों ने सरहद से लगते इलाके से अपने नागरिकों को सुरक्षित जगहों पर भेज दिया है।

पहले पाकिस्तानी फौज मोर्टार, आरपीजी औऱ हेवी मशीन गन्स इस्तेमाल कर रहा था, लेकिन अब वह एयर डिफेंस गन्स भी इस्तेमाल कर रहा है। अब तक दोनों देशों ने लंबी दूरी तक मार करने वाली तोपों का इस्तेमाल नहीं किया है।

सरकार एलओसी में हो रहे घटनाक्रम पर बारीक नजर रख रही है। नैशनल सिक्यॉरिटी अडवाइजर अजित डोभाल बीएसएफ से हर रोज रिपोर्ट ले रहे हैं जिससे पता चल सके कि पाकिस्तान ने कहां पर कैसे फायरिंग की और भारत ने किस स्तर पर उसका जवाब दिया।

No comments:

Post a Comment