Thursday, 16 October 2014

वनडे मैच में तिहरा शतक

सिडनी। ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज ने इतिहास रचते हुए सीमित ओवर्स के मैच में तिहरा शतक जड़ दिया। ऑस्ट्रेलिया के एक क्लब क्रिकेटर जेम्स टुल ने क्लब क्रिकेट में 341 रन बना डाले, जिसमें 25 छक्के और 34 चौके शामिल है। टुल ने ये कारनामा केवल 44 ओवर के मैच में कर डाला।

ऑस्ट्रेलिया की क्लब प्रतियोगिता क्वींसलैंड वेयरहाउस क्रिकेट एसोसिएशन में मेटर हिल की ओर से खेलते हुए टुल ने ये कारनामा किया। 44 ओवर के मैच में टुल 42वें ओवर में जब आउट हुए तब उनका स्कोर था 341 रन। उनकी टीम की ओर से दूसरा सर्वाधिक स्कोर ट्रॉय डीन ने बनाया। डीन ने 36 रन बनाए। डीन और टुल ने पांचवे विकेट के लिए 212 रन जोड़े। टुल की पारी की बदौलत मेटर हिल ने चार विकेट पर 457 रन का आसमानी स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में प्रतिद्वंदी साइलेंट असेसिंस की टीम 232 रन बना पाई और उसे 225 की बड़ी हार का सामना करना पड़ा।

चार साल में तीन भारतीयों ने वनडे में बनाए तीन दोहरे शतक
वनडे क्रिकेट की शुरूआत 1971 में हुई लेकिन वनडे इतिहास का पहला दोहरा शतक बनने में 26 साल लगे और वह भी एक महिला ने बनाया। ऑस्ट्रेलिया की बेलिंडा क्लार्क ने 1997 में महिला वर्ल्ड कप में डेनमार्क के खिलाफ मुम्बई में नाबाद 229 रन बनाए। जबकि किसी पुरूष को यह कारनामा करने 13 साल और लगे। सचिन तेंदुलकर ने 2000 में इंदौर के खिलाफ नाबाद 200 रन की पारी खेलकर वनडे का पहला दोहरा शतक बनाया। भारत के ही वीरेन्द्र सहवाग ने एक साल बाद ही यह रिकॉर्ड तोड़ दिया और 219 रन की पारी खेली। दो साल बाद एक और भारतीय रोहित शर्मा ने भ्री दोहरा शतक जड़ दिया। रोहित ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2013 में 209 रन की पारी खेली।

No comments:

Post a Comment