Thursday, 30 October 2014

होमी जहाँगीर भाभा

30 अक्टूबर 1909 में भारत के परमाणु उर्जा कार्यक्रम के जनक डॉ होमी जहाँगीर भाभा का जन्म मुम्बई के एक सम्पन्न पारसी परिवार मे हुआ था । इनके पिता जे. एच. भाभा बंबई के एक प्रतिष्ठित बैरिस्टर थे। डॉ भाभा ने 'कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय' से भौतिक शास्त्र की शिक्षा ग्रहण की और साथ ही अनुसंधान कार्य भी किया । स्वदेश लौटने पर डॉ. भाभा ने नाभिकीय विज्ञान के क्षेत्र में विशिष्ट अनुसंधान के लिए एक अलग संस्थान बनाने का विचार बनाया और सर दोराब जी टाटा ट्रस्ट से मदद माँगी। यह समय भारतवर्ष के लिए वैज्ञानिक चेतना एवं विकास का निर्णायक मोड़ था। यह डॉ. भाभा के प्रयासों का ही प्रतिफल है कि आज विश्व के सभी विकसित देशों में भारत के नाभिकीय वैज्ञानिकों की प्रतिभा एवं क्षमता का लोहा माना जाता है।

डॉ. भाभा के उत्कृष्ट कार्यों के सम्मान स्वरूप तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी जी ने परमाणु ऊर्जा संस्थान, ट्रॉम्बे (AEET) को डॉ. भाभा के नाम पर 'भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र' नाम दिया। आज यह अनुसंधान केन्द्र भारत का गौरव है और विश्व-स्तर पर परमाणु ऊर्जा के विकास में पथप्रदर्शक हो रहा है।

No comments:

Post a Comment