Tuesday, 30 September 2014

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेरिका दौरे पर अमेरिकी सांसदों की प्रतिक्रिया

न्यूयॉर्क। अमेरिका दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिर्फ प्रवासी भारतीयों का ही नहीं बल्कि लगभग 40 शीर्ष अमेरिकी सांसदों का दिल भी जीत लिया। इन सांसदों ने उनके शब्दों को ‘प्रेरणादायी और विहंगम दृष्टिकोण से परिपूर्ण’ बताया। इस अवसर पर मौजूद अमेरिका के शीर्ष 40 सांसदों में से एक ने उन्हें एक ‘करिश्माई’ व्यक्ति बताया जबकि कई अन्य को लगा कि ‘देश का कायाकल्प उनके हाथों होना है।’ न्यूनतम शासन पर उनके विचारों को भी सांसदों ने काफी पसंद किया। मौजूदा प्रतिनिधि सभा में भारतीय मूल के एकमात्र अमेरिकी सांसद एमी बेरा ने मोदी के भाषण को प्रेरणादायी और विहंगम दृष्टिकोण से परिपूर्ण बताया। जॉर्जिया से कांग्रेस सदस्य हैनरी सी ‘हैंक’ जॉनसन ने कहा, ‘अब मैं समझा कि भारत के लोगों ने उन्हें क्यों चुना है?’ टैक्सास से कांग्रेस के सदस्य पेटे ओल्सन ने कहा, ‘उनके पास एक परिपूर्ण दृष्टिकोण है। उनके पास उसे सच करने की योजना है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस स्थान को एक रॉकस्टार की तरह भीड़ से भर दिया।’ भारत अमेरिका संबंध के प्रति एकजुटता का अप्रत्याशित प्रदर्शन करते हुए तीन दर्जन से अधिक शीर्ष अमेरिकी सांसद यहां महत्वपूर्ण मैडिसन स्क्वायर पर आयोजित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत समारोह में शामिल हुए। ऐसा पहली बार हुआ है कि इतनी बड़ी संख्या में अमेरिकी सांसदों ने भारतीय मूल के अमेरिकियों द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की। एक ऐसा दुर्लभ मौका भी था जब कई अमेरिकी सांसद प्रवासियों के कार्यक्रम में शामिल हुए। सीनेट के सदस्यों में प्रमुख प्रभावशाली सीनेट विदेश संबंध समिति के अध्यक्ष राबर्ट मेंडेज थे। अन्य सीनेट सदस्यों में इंडियाना से जो डोन्नेली, न्यूजर्सी से कोरी बुकर आदि थे। साउथ कैरोलीना की भारतीय मूल की अमेरिकी गवर्नर निक्की हेली ने भी कार्यक्रम में हिस्सा लिया। वह मंच पर मोदी और अन्य निर्वाचित प्रतिनिधियों के साथ थीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेडिसन स्क्वायर गार्डन में संबोधन के बीच सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर ‘हैश मोदी एट मेडिसन’ प्रमुख हैशटैग में शामिल रहा। मोदी ने एनआरआई समुदाय को एक घंटे से अधिक समय तक संबोधित किया । प्रधानमंत्री के भाषण को कई लोगों ने ‘शानदार’ बताया । ट्विटर पर मौजूद हजारों लोगों खासकर भारतीयों ने इस हैशटैग का उपयोग किया।

No comments:

Post a Comment