Monday, 29 September 2014

क्या है बंदरों के मौत की वजह

संदिग्ध हालात में 42 बंदरों की मौत हरदोई ज़िले के एक गांव में 42 बंदरों के शव मिले हैं. लेकिन इनके मरने की वजह अभी स्पष्ट नहीं है. बंदरो के शव लोनार थाना क्षेत्र के ज्ञानपुरवा गाँव में मिले हैं. पहले तो पुलिस और वन अधिकारियों ने शवों को दफ़न करवा दिया लेकिन गाँव वालों के विरोध करने पर शवों को निकलवाकर पोस्ट-मोर्टेम परीक्षण करवाया. बंदरों के शरीर के अंदरूनी अंगों को लखनऊ फॉरेंसिक लेबोरेटरी में भेज दिया गया है. आशंका हरदोई के पुलिस अधीक्षक गोविंद अग्रवाल ने बताया कि संभवतः बंदरों की मृत्यु ज़हर या कीटनाशक जैसे पदार्थ खाने से हुई है. उन्होंने पोस्ट-मॉर्टेम रिपोर्ट के बारे में कुछ भी कहने से मना कर दिया. हरदोई पशुपालन विभाग के डॉक्टर अनिल कुमार ने बंदरों के पेट कटे होने की बात को ग़लत बताते हुए कहा, "विसरा की जांच रिपोर्ट आने के बाद ही मरने के कारण के बारे में कुछ कहा जा सकता है." गांववालों के कहने के बाद पुलिस ने शवों को परीक्षण के लिए भेजा. ग्रामीणों ने भी बंदरों को ज़हर देने और दूसरी जगह से लाकर फेंके जाने की आशंका जाहिर की है क्योंकि जिस खेत में शव मिले थे वहाँ काफी संख्या में बोरियां भी मिली हैं.

No comments:

Post a Comment